लड़कियों ने सीखे आत्मरक्षा के गुर

लखनऊ ,  राजधानी के बंथरा क्षेत्र में ग्राम काजी खेड़ा, मजरा एन गाँव में  इंटरैक्टिव अवेयरनेस सेशन किया गया। इस कार्यक्रम के अंतर्गत घरेलू महिलाएं,एवं छात्राओं ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम के शुरुआत में एक कोशिश ऐसी भी  संस्था एवं लखनऊ से निशुल्क एम्बुलेंस संचालन करने वाली वर्षा वर्मा ने सेल्फ डिफेंस के अंतर्गत छेड़खानी के दौरान कोहनी का इस्तेमाल,साइकिल से जाते समय छेड़खानी के दौरान वॉइस पैनिक सिचुएशन बनाने की ट्रिक सहित कई अन्य सेल्फ डिफेंस ट्रिक्स के बारे में ग्रामीण भाषा मे ही बताया। इसके बाद अजंली फ़िल्म प्रोडक्शन एवं आशा वेलफेयर फाउंडेशन से अजंली पांडेय ने गुड टच एवम बैड टच (सुरक्षित एवं असुरक्षित स्पर्श ) के बारे में बताते हुए किसी भी असुरक्षित स्पर्श की घटना होने पर परिवार जनों को सूचना देने के साथ ही कई अन्य सुरक्षा के टिप्स दिए। आशा वेलफेयर फाउंडेशन से बृजेन्द्र बहादुर मौर्य ने पुलिस से कैसे मदद लें के अंतर्गत 112,1090 एवं 181 नम्बरो के इस्तेमाल के बारे में एवं बैंकिंग अपराध से बचने के लिए किसी भी समस्या पर बैंक शाखा जाकर समाधान पाने के तरीको के बारे में बताया। काजल पांडेय ने माहवारी के दौरान जुड़े मिथकों,कपड़ा इस्तेमाल के दुष्प्रभाव, स्वच्छता पर ध्यान न देने पर होने वाली बीमारियों के बारे में एवं कार्यक्रम में शामिल महिलाओं को हाइजीन के बारे में जागरूक किया। कार्यक्रम के अंत मे स्थानीय को-कॉर्डिनेटर पृथ्वी पाल ने धन्यवाद ज्ञापन दिया।

इस इंटरैक्टिव अवेयरनेस सेशन में शिक्षक सुरेश जैसवाल के सहयोग से कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं एवं लड़कियों को सैनिटरी पैड्स का भी वितरण किया। इस कार्यक्रम को करने के लिए स्थानीय निवासी पृथ्वी पाल एवं आराधना पाल एवं आकांक्षा का सहयोग रहा। पूरे कार्यक्रम की रूपरेखा एवं क्रियान्वयन में आशा वेलफेयर फाउंडेशन की अध्य्क्ष सोनी वर्मा का विशेष सहयोग रहा।