उत्तर प्रदेश में सहकारिता विभाग द्वारा 2492 धान क्रय केन्द्र संचालित

उत्तर प्रदेश के सहकारिता मंत्री श्री मुकुट बिहारी वर्मा ने निर्देशित किया है कि धान खरीद केन्द्रों पर किसानों को किसी प्रकार की कोई परेशानी नही होने पाये इसका ध्यान अवश्य रखा जाये। धान खरीद के उपरान्त किसानों को धान खरीद का भुगतान नियमानुसार समय से किया जाये।

सहकारिता मंत्री श्री वर्मा ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि धान खरीद केन्द्रों को निर्धारित समय से खोला जाये और सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित करायी जाये, इसका विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि विभागीय अधिकारी धान खरीद केन्द्रों का निरीक्षण करें और यदि कहीं कोई धान खरीद केन्द्र पर कोई समस्या आती है तो उसका शीघ्र निस्तारित कराना सुनिश्चित करेंगे। धान खरीद केन्द्रों पर किसानों से बेहतर व्यवहार करते हुए उन्हें बैठने, पेयजल सहित अन्य आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित करायी जाये, इसका भी ध्यान अवश्य रखा जाना चाहिए।
सहकारिता मंत्री श्री वर्मा ने बताया कि उत्तर प्रदेश में सहकारिता विभाग द्वारा मूल्य समर्थन योजना के तहत वर्ष 2021-22 में पी0सी0एफ0 के 1523, पी0सी0यू0 के 628 तथा यू0पी0एस0एस0 के 341 सहित कुल 2492 धान क्रय केन्द्र संचालित करते हुए किसानों से धान खरीद का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पी0सी0एफ0 द्वारा 21 लाख मी0 टन, पी0सी0यू0 द्वारा 12.50 लाख मी0 टन तथा यू0पी0एस0एस0 द्वारा 03 लाख मी0 टन धान खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जिसके सापेक्ष धान खरीद करने के निर्देश इन सहकारी संस्थाओं के अधिकारियों को दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि लक्ष्य के सापेक्ष अब तक पी0सी0एफ0 द्वारा 56717 मी0टन, पी0सी0यू0 द्वारा 67972 मी0 टन तथा यू0पी0एस0एस0 द्वारा 48411 मी0 टन धान की खरीद की गई है। धान खरीद में अब तक क्रय एजेन्सियों द्वारा 24773 किसानों को 11257.47 लाख रूपये का भुगतान भी कर दिया है।