प्रदेश में साधन सहकारी समितियां बनेंगी बहुआयामी

उत्तर प्रदेश  राज्य निर्माण सहकारी संघ लि0, गोमतीनगर विस्तार लखनऊ में 68वें अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह 2021 के अवसर पर आज तीसरे दिन ‘‘सहकारिता के लिए व्यापार करने में आसानी’’ विषय पर सहकारिता मंत्री श्री मुकुट बिहारी वर्मा की अध्यक्षता में आयोजित गोष्ठी में वित्त, संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित हुए। 

इस अवसर पर वित्त मंत्री श्री सुरेश कुमार खन्ना ने उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण सहकारी संघ लि0 के कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा की आज उत्तर प्रदेश इज ऑफ डूइंग में एक लंबी छलांग लगाते हुए दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। उत्तर प्रदेश माननीय मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में हर दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी का एक ही एजेंडा है कि देश में प्रदेश को विकास के पथ पर आगे ले जाना। आज प्रदेश में कानून व्यवस्था सुदृढ़ हुई है। इंफ्रास्ट्रक्चर में तेजी से विकास हो रहा है और इन्वेस्टर प्रदेश में अपने उद्योगों को स्थापित करने हेतु आकर्षित हो रहे हैं।
श्री खन्ना ने कहा कि विगत वर्षों में उ0प्र0 राज्य निर्माण सहकारी संघ लि0 ने काफी अच्छा कार्य किया है जिसका परिणाम है कि वह आज मुनाफे में है परिणाम स्वरूप इसकी छवि में काफी सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि किसी भी संस्था द्वारा पूर्ण गुणवत्ता एवं समयबद्धता से निर्माण कार्य किया जाना चाहिए जिससे उस संस्था का पूरे प्रदेश में प्रतिष्ठा एवं मान सम्मान की पृष्ठभूमि तैयार होती है। उन्होंने कहा कि कोऑपरेटिव को केवल खाद बेचने एवं धान गेहूं खरीदने तक ही सीमित नहीं होना चाहिए बल्कि इसको और अधिक बहुआयामी बनाया जाना चाहिए जिससे इसमें रोजगार सृजित होंगे तथा लोगों को और अधिक लाभ एवं सुविधाएं मिल सकेंगी।
सहकारिता मंत्री ने कहा कि सहकारिता के प्रति लोगों की सोच बदली है और इसमें विश्वास बढ़ा है। आज प्रदेश की सभी सहकारी संस्थायें लाभ पर है। वर्तमान में यू0पी0आर0एन0एस0एस0 की प्रतिष्ठा निर्माण कार्य के क्षेत्र में और बढ़ी है। उन्होंने कहा कि मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 70 सालों में पहली बार केंद्र में सहकारिता विभाग बनाया गया है। उन्होंने कहा कि भारत की 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था की कल्पना को साकार करने में किसानों तथा सहकारिता की एक बड़ी भूमिका है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में साधन सहकारी समितियों को बहुआयामी स्वरूप प्रदान करने की आवश्यकता है। साधन सहकारी समितियों के माध्यम से किसानों को अधिक से अधिक सुविधाएं प्रदान कराया जाए तथा उस इकाई क्षेत्र के लोगों को यह महसूस भी होना चाहिए और उनका इससे जुड़ाव भी बढ़ाया जाये। उ0प्र0 राज्य निर्माण सहकारी संघ लि0 द्वारा निरन्तर शासन द्वारा आवंटित निर्माण कार्यों को उच्च गुणवत्ता एवं समयबद्धता से पूरे प्रदेश में किया जा रहा है। सहकारिता विभाग द्वारा सरकार की मंशा के अनुरूप किसानों के हित के लिए कार्य किया जा रहा है।
प्रमुख सचिव, सहकारिता श्री बी0एल0 मीणा ने कहा कि देश की आजादी के बाद से ही सहकारी सप्ताह मनाया जाता है। सहकारी समितियों के माध्यम से किसानों को ऋण एवं उर्वरक सहित अन्य सुविधायें उपलब्ध करायी जा रही है। सहकारिता विभाग किसानों को सुविधा उपलब्ध कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।
उ0प्र0 राज्य निर्माण सहकारी संघ लि0 के प्रबन्ध निदेशक श्री धीरेन्द्र सिंह ने बताया कि संस्था एक ऋण मुक्त शीर्ष सहकारी संस्था है। संस्था द्वारा 35 निर्माण प्रखण्डों के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न विभागों के निर्माण कार्य कराये जा रहे हैं। उन्होने यह भी बताया कि शासन के मंशा के अनुरूप उच्च गुणवत्ता एवं समयबद्धता के साथ निर्माण कार्य कराये जा रहे हैं। संस्था निरन्तर व्यवसायिक प्रगति के पथ पर अग्रसर है। संस्था द्वारा प्रदेश के विभिन्न जनपदों में 5000 मै0टन क्षमता के कुल 25 नग मार्डन गोदामों का निर्माण कार्य कराया गया है। जिससे भण्डारण क्षमता में अतिरिक्त वृद्धि हुई। साथ ही साथ यह भी बताया कि संस्था द्वारा मा0 मुख्यमंत्री जी की लोकप्रिय योजना गौ-संरक्षण केन्द्र 71 नग गौशाला का निर्माण कार्य संपादन किया जा रहा है। संस्था विगत वर्षों से आर्थिक रूप से काफी सुदृढ हुई है, और निरन्तर लाभ पर अग्रसर है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में संस्था द्वारा विभिन्न विभागों के रु0 575.31 करोड़ एवं वित्तीय वर्ष-2020-21 में 607.96 करोड़ के कार्य कराये जा चुके हैं।