डा अनिल का शोध संदेह के घेरे में

 इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसन एंड एलाइड साइंस दिल्ली के वरिष्ठ वैज्ञानिक, डॉ अनिल मिश्र के शोध पत्र आए संदेह के घेरे में।  डॉ अनिल मिश्र इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसन एंड एलाइड साइंस दिल्ली के एक वैज्ञानिक है और हाल ही मे नाभिकीय औषधि एवं संबन्ध विज्ञान संस्थान प्रयोगशाला के डायरेक्टर नियुक्त किये गये है . इनका एक बहुत बड़ा वैज्ञानिक डुप्लीकेसी का मामला सामने आया है . दरअसल एक वेब-साइट pubpeer.com जो प्रकाशित शोध पत्रों के पुन: मूल्यांकन  से जुड़ी हुइ है ने डॉ अनिल मिश्र के दर्जनों शोध पत्रों में गड़बड़ीयाँ  पायी है । जैसे एक पत्र के डेटा को दूसरे में छपवाना, एक ही चित्र (CT स्कैन , PET इत्यादि ) को अलग-अलग आविष्कार बता कर छपवाना। . इन  शोधपत्रों के ज़रिये डॉ अनिल मिश्र ने ये दावा किया है कि उन्होंने कुछ ऐसे रेडियो-ट्रेसर बनाये है जिससे रोगों का पता लगाया जा सकता है. लेकिन वेबसाइट के अनुसार  पहले से पब्लीशड डाटा और इमेज प्रयोग की हुई प्रतीत होती हैं। जिनके कारण उन्होंने खुद अपना एक पेपर वापस लिया है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली

सीतापुर में 19 शिक्षक, शिक्षिकायें बर्खास्त