दुर्घटनाओं में 19.5 प्रतिशत की कमी दर्ज की गयी-धीरज साहू

उत्तर प्रदेश के परिवहन विभाग द्वारा प्रदेश में तृतीय सड़क सुरक्षा सप्ताह (दिनांक 06.12.2021 से दिनांक 12.12.2021 तक) मनाया जा रहा है, जिसके अन्तर्गत आज इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में राज्य स्तरीय समारोह आयोजित किया गया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि अपर मुख्य सचिव, गृह, श्री अवनीश कुमार अवस्थी, द्वारा अपने उद्बोधन में राज्य स्तरीय कार्यक्रम में गुड सेमेरिटन (नेक आदमी) को सम्मानित किये जाने की सराहना की गयी तथा उनके द्वारा सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति को गोल्डेन आवर में अस्पताल पहॅुचाकर जान बचाने वाले गुड सेमेरिटन को सरकार द्वारा 5,000 रू0 की धनराशि से पुरस्कृत किये जाने की योजना को में प्रभावयशाली कदम बताया।
प्रमुख सचिव, परिवहन द्वारा सड़क सुरक्षा के बारे में छात्रों को विद्यालय स्तर पर जागरूक किये जाने की आवश्यकता के बारे में बताया गया। इस संबध में बेसिक, माध्यमिक, उच्च शिक्षा के छात्रों की सड़क सुरक्षा पर आयोजित ब्लॉक, जिला, मण्डल एवं राज्य स्तर की प्रतियोगिताओं की सराहना की गयी। कार्यक्रम के प्रारम्भ में मुख्य अतिथि सहित सभी अतिथियों द्वारा सड़क सुरक्षा से जुड़े महत्वपूर्ण विभागों, संस्थाओं एवं डीलरों द्वारा प्रदर्षित की गयी स्टॉल का अवलोकन किया गया।
राज्य स्तरीय समारोह में सड़क सुरक्षा संबधी विषयों पर परिचर्चा के साथ-साथ सड़क सुरक्षा से जुड़े हुए विभागों द्वारा प्रस्तुतीकरण भी दिया गया। प्रस्तुतीकरण में मुख्य रूप से परिवहन विभाग द्वारा सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में किये जा रहे व्यापक प्रयासों के बारे में परिवहन आयुक्त द्वारा विस्तार प्रकाश डाला गया। वर्ष 2019 के सापेक्ष वर्ष 2020 तथा 2021, दोनों ही में, दुर्घटनाओं में क्रमशः 19.5 प्रतिशत तथा 13.6 प्रतिशत एवं मृत्यु में क्रमशः 15.5 प्रतिशत तथा 8.6 प्रतिशत की कमी दर्ज की गयी है। साथ ही बताया गया कि प्रदेश में कानपुर के स्वचालित टेस्ट ट्रैक के अतिरिक्त 09 जनपदों - प्रयागराज, मुरादाबाद, मेरठ, बस्ती, गोण्डा, मुजफ्फरनगर, मथुरा, वाराणसी, गोरखपुर में सी0आई0आर0टी0 द्वारा डिजाइन्ड ट्रैक पर मैनुअल टेस्ट की व्यवस्था शुरू हो गई है।    
समारोह में सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्तियों को अस्पताल पहुॅचाने वाले पुलिस एवं परिवहन विभाग के प्रत्येक परिक्षेत्र से 01-01 गुड सेमेरिटन (नेक आदमी) कुल 14, सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में शिक्षा विभाग के सर्वोत्कृष्ट तीन मास्टर ट्रेनर को सम्मानित किया गया तथा उच्च शिक्षा के छात्रों की जनपद एवं मण्डल स्तर पर आयोजित चित्रकला व क्विज प्रतियोगिता के प्रथम विजेताओं के मध्य आयोजित राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के आधार पर विजेता छात्रों के साथ-साथ सड़क सुरक्षा पर काव्य गोष्ठी के विजेता कवियों को पुरस्कृत किया गया। क्विज प्रतियोगिता के विजेता छात्रों में प्रथम स्थान पर अंजलि पटेल, द्वितीय स्थान पर अभिलाषा गुप्ता तथा तृतीय स्थान पर राजकुमार जायसवाल रहे। चित्रकला प्रतियोगिता के विजेता छात्रों में प्रथम स्थान पर अनुप्रिया त्रिपाठी, द्वितीय स्थान पर अमराह नाज, तथा तृतीय स्थान पर सोनाली रही। इन सभी छात्रों को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार के फलस्वरूप क्रमशः रू0 20,000, 15,000 एवं 10,000 की धनराशि पुरस्कार स्वरूप उनके खाते में हस्तान्तरित की गयी। इसी तरह सड़क सुरक्षा पर आयोजित राज्य स्तरीय काव्य प्रतियोगिता में विजेता कवियों में प्रथम स्थान पर प्रीती त्रिपाठी,  द्वितीय स्थान पर शिवम् पाण्डेय, तथा तृतीय स्थान पर आंेकार यादव रहे, उन्हें पुरस्कार स्वरूप क्रमशः  10,000, 7,500 एवं 5,000 रुपये की धनराशि पुरस्कार स्वरूप प्रदान की गई। अन्य सभी प्रतिभागियों को सान्तवना पुरस्कार भी प्रदान किये गये।
कार्यक्रम में  त्वंक ।बबपकमदज पद न्जजंत च्तंकमेी 2021 पुस्तिका एवं ‘‘राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह स्मारिका, 2021‘‘ का विमोचन किया गया। साथ ही, त्वंक ।बबपकमदज क्ंजं क्ंेीइवंतकए जो परिवहन विभाग की वेबसाइट पर होस्टेड है, के नवीन वर्जन को प्रदर्शित किया गया।
कार्यक्रम में कम्यूनिटी हेल्थ एम्बेसडर (बेसिक लाइफ सपोर्ट ट्रेनिंग प्रोग्राम) की पाइलट परियोजना लखनऊ सम्भाग में शुरू करने की घोषणा की गई। इसके अन्तर्गत यातायात पुलिस कर्मियों व परिवहन विभाग के प्रवर्तन अधिकारियों को बेसिक लाइफ सपोर्ट, डिजास्टर मैनेजमेंट एवं साइकोलॉजिकल फर्स्ट-एड की ट्रेनिंग के0जी0एम0यू0 तथा एस0जी0पी0जी0आई0 के एसोसिएशन ऑफ रिसर्च प्रोफेशनल्स द्वारा दी जाएगी।
त्वंक ैंमिजल तमसंजमक च्वसपबल प्दजमतेीपच च्तवहतंउ का भी शुभारम्भ कार्यक्रम में किया गया। यह कार्य सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय, आई0आर0एस0सी0 व परिवहन विभाग के संयुक्त प्रयास से सम्पन्न किया जाएगा। इसके अन्तर्गत प्रदेश के प्रतिष्ठित संस्थान यथा- आई0आई0टी0 कानपुर, आई0आई0टी0 बी0एच0यू, एम0एन0आई0टी0 इलाहाबाद, अमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा आदि के सिविल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के छात्रों द्वारा राजमार्गों पर सड़क सुरक्षा सम्बन्धी तकनीकी त्रुटि अथवा कठिनाई चिन्हित करके उसके निराकरण हेतु रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी।
इसके अलावा डीलर प्वांडट रजिस्ट्रेशन की नवीन व्यवस्था का लोकार्पण अपर मुख्य सचिव गृह द्वारा किया गया। इस व्यवस्था में आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से वाहन पंजीयन की सेवायें प्रारम्भ होने के पश्चात आम जनमानस को वाहन के स्वामित्व का हस्तांतरण, पंजीयन प्रमाण-पत्र में पते का परिवर्तन, अनापत्ति प्रमाण-पत्र प्राप्त करना, पंजीयन प्रमाण-पत्र की द्वितीय प्रति प्राप्त करना तथा हाइपोथिकेशन इंडोर्समेंट एवं टर्मिनेशन की सेवायें कॉन्टेक्टलेस माध्यम से प्राप्त हो सकेंगी। इस व्यवस्था के लागू होने से किसी भी जनपद के डीलर द्वारा वाहन विक्रय पर तत्काल पंजीयन चिन्ह आवंटित किया जा सकेगा। अग्रेतर डीलर द्वारा किसी अन्य जनपद हेतु पंजीयन चिन्ह अपने स्तर से ही आवंटित किया जा सकेगा। ऐसे में वाहन पंजीयन संबंधी उक्त सेवाओं का लाभ प्राप्त करने हेतु आमजनमानस को कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं होगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली

सीतापुर में 19 शिक्षक, शिक्षिकायें बर्खास्त