ऑनलाइन घोषणा-पत्र न भरने वाले गन्ना किसानों को एस.एम.एस. गन्ना पर्ची नहीं मिलेंगी

 
प्रदेश के ऐसे गन्ना किसान जो इण्टरनेट/सर्वर की गति धीमी होने अथवा मोबाइल या इण्टरनेट की अच्छी जानकारी के आभाव में एवं अन्य तकनीकी कारणों से घोषणा-पत्र भरने से अभी भी वंचित रह गये हैं, उन्हें अन्तिम अवसर प्रदान करते हुए ई.आर.पी. की वेबसाइट-मदुनपतलण्बंदमनचण्पद पर ऑनलाइन घोषणापत्र भरने की अन्तिम तिथि को 25 दिसम्बर, 2021 से बढ़ाकर 31 दिसम्बर, 2021 किया जा रहा है।   

इस सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी देते हुए आयुक्त, गन्ना एवं चीनी, संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि ऑनलाइन घोषणा-पत्र भरने की अन्तिम तिथि को पूर्व में 06 बार बढ़ाया जा चुका है, जिसके फलस्वरूप लगभग 99 प्रतिशत गन्ना कृषक अपना ऑनलाइन घोषणा-पत्र भर चुके हैं, केवल 1 प्रतिशत गन्ना कृषक तकनीकी कारणों जैसे इण्टरनेट की स्लो स्पीड, बिजी सर्वर आदि समस्याओं के कारण घोषणा-पत्र भरने से वंचित रह गये हैं। इन कृषकोें की सुविधा एवं विभाग के टोल-फ्री नम्बर 1800-121-3203 पर गन्ना किसानों द्वारा लगातार किये जा रहे अनुरोध के दृष्टिगत गन्ना किसानों को घोषणा-पत्र भरने के लिए 07 दिनों  का एक और अवसर प्रदान करते हुए अन्तिम तिथि को बढ़ाने का निर्णय लिया गया है।
गन्ना आयुक्त ने प्रदेश के गन्ना किसानों से अपील की है कि प्रत्येक दशा में इस अवसर का लाभ लेते हुए पेराई सत्र 2021-22 हेतु 31 दिसम्बर, 2021 तक अपना ऑनलाइन घोषणा-पत्र भर दें। इसके बाद घोषणा-पत्र भरने की तिथि को बढ़ाया जाना सम्भव नहीं होगा। अन्तिम तिथि तक घोषणा-पत्र न भरने वाले गन्ना किसानों को एस.एम.एस. गन्ना पर्ची प्राप्त नहीं होगी तथा सामान्य बढोत्तरी, उपज बढोत्तरी, अतिरिक्त सट्टा आदि की सुविधा भी नहीं मिलेगी एवं सट्टा भी बंद किया जाएगा।