एक जनवरी से बदलेंगे एटीएम के नियम

आने वाली 1 जनवरी से बैंक के ग्राहकों को अधिक शुल्क चुकाना होगा. कई बैंकों ने फाइनेंशियल और नॉन-फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन के नियमों में बदलाव किया है. ये बदलाव 1 जनवरी से लागू होंगे. इसी तरह पोस्ट ऑफिस के अंतर्गत आने वाले इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक ने भी एटीएम ट्रांजेक्शन/बैंक से निकासी के नियमों में बदलाव किया है. इसके नए नियम भी 1 जनवरी से लागू होंगे. नया साल आने से पहले ग्राहकों को इसके बारे में जान लेना चाहिए. सबसे पहले पोस्ट ऑफिस के पेमेंट बैंक के बारे में जानते हैं. इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) के मुताबिक बेसिक सेविंग अकाउंट पर नकदी निकासी 4 ट्रांजेक्शन तक मुफ्त है. यानी कि ग्राहक एक महीने में अपने बेसिक सेविंक अकाउंट से एटीएम या बैंक खाते से 4 बार बिना कोई शुल्क चुकाए नकदी निकाल सकते हैं. लेकिन उसके बाद ट्रांजेक्शन करने पर अतिरिक्त शुल्क देना होगा. जितना पैसा निकाल रहे हैं उसका 0.50 फीसदी या प्रति ट्रांजेक्शन 25 रुपये तक देने पड़ सकते हैं.

बेसिक सेविंग अकाउंट में कैश डिपॉजिट फ्री है और इस पर कोई चार्ज नहीं रखा गया है. इस नियम में कोई बदलाव भी नहीं किया गया है. अगर बेसिक सेविंग अकाउंट के अलावा किसी और सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट में पैसे निकालते हैं तो प्रति महीने 25,000 रुपये तक फ्री है. लेकिन उसके बाद प्रति ट्रांजेक्शन 0.50 फीसदी या न्यूनतम 25 रुपये प्रति ट्रांजेक्शन तक शुल्क देना पड़ सकता है. कैश डिपॉजिट को लेकर भी नियम में बदलाव किया गया है. बेसिक सेविंग अकाउंट के अलावा किसी अन्य सेविंग या करंट अकाउंट में कैश डिपॉजिट करते हैं तो यह प्रति महीने 10,000 रुपये तक फ्री है. लेकिन उससे ज्यादा की राशि जमा करने पर प्रति ट्रांजेक्शन 0.50 फीसदी या न्यूनतम 25 रुपये तक चुकाने होंगे.
प्राइवेट बैंकों की बात करें तो आईसीआईसीआई बैंक ने भी सर्विस चार्ज बढ़ाने का ऐलान कर दिया है. सेविंग अकाउंट पर इसका नया नियम 1 जनवरी 2022 से लागू होगा. बैंक ने यह भी कहा है कि 1 जनवरी से एटीएम ट्रांजेक्शन चार्ज पर भी असर पड़ेगा. एटीएम ट्रांजेक्शन चार्ज में बदलाव के बाद, एक महीने में पहले 5 लेनदेन निःशुल्क होंगे; इसके बाद, प्रति फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन पर 21 रुपये का शुल्क लिया जाएगा. 5 फ्री ट्रांजेक्शन के बाद अलग से चार्ज वसूला जाएगा. नियमों में बदलाव के बाद एटीएम लेनदेन शुल्क के रूप में 21 रुपये प्रति वित्तीय लेनदेन और 8.50 रुपये प्रति गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए शुल्क लिया जाएगा. एचडीएफसी बैंक के ग्राहक एक महीने में 5 ट्रांजेक्शन मुफ्त में करने की सुविधा पाते हैं. यह नियम सभी शहरों के लिए है. मुंबई, नई दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरु और हैदराबाद के एटीएम में किए गए पहले 3 लेनदेन प्रति माह (वित्तीय + गैर वित्तीय) मुफ्त हैं. एचडीएफसी बैंक के मुताबिक फ्री लिमिट से अधिक के लेनदेन पर शुल्क लगेगा. लिमिट पार होने के बाद प्रति वित्तीय ट्रांजेक्शन पर 21 रुपये प्लस टैक्स चुकाना होगा. अगर गैर-वित्तीय ट्रांजेक्शन (जैसे बैलेंस चेक, स्टेटमेंट निकालना आदि) करते हैं तो एचडीएफसी बैंक के अलावा किसी दूसरे बैंक के एटीएम पर 8.5 रुपये अतिरिक्त देने होंगे. यह नियम 1 जनवरी 2022 से लागू हो रहा है.
एक्सिस बैंक ने भी लगभग यही नियम लागू किया है. एक्सिस बैंक के एटीएम से फ्री लिमिट के अलावा पैसे निकालने पर 20 रुपये प्लस टैक्स चुकाना होता है. वही गैर वित्तीय लेनदेन पर यह शुल्क 10 रुपये है. गैर-वित्तीय लेनदेन के शुल्क में कोई बदलाव नहीं होगा, लेकिन वित्तीय लेनदेन अगर 5 फ्री लिमिट से अधिक करते हैं तो प्रति ट्रांजेक्शन 21 रुपये प्लस टैक्स चुकाना होगा. एक्सिस बैंक का नया नियम भी 1 जनवरी 2022 से लागू होगा.