गन्ना समिति, कार्मिकों के लिए खुशियों की सौगात

प्रदेश के मा. मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ द्वारा सहकारी संस्थाओं को मजबूत करने हेतु दिये गये निर्देशों एवं मा. गन्ना मंत्री, श्री सुरेश राणा के मार्ग-दर्शन में प्रदेश की सहकारी गन्ना समितियों में कार्यरत कार्मिकों के आर्थिक हितों की अभिवृद्धि के दृष्टिगत निबन्धक, सहकारी गन्ना एवं चीनी मिल समितियॉं द्वारा नव वर्ष की पूर्व संध्या पर बढे़ हुए महॅगाई भत्ते का तोहफा दिया है।

इस सम्बन्ध में  विस्तृत जानकारी देते हुए प्रदेश के निबन्धक, सहकारी गन्ना समितियॉ, उ.प्र., श्री संजय आर. भूसरेड्डी द्वारा बताया गया कि, राज्य सरकार द्वारा घोषित महॅगाई भत्ते के अनुसार ही महॅगाई स्वीकृति हेतु गन्ना समितियों के कार्मिकांे द्वारा मॉग की जा रही थी। कार्मिकों की इसी मॉग का संज्ञान लेते हुए एवं समिति कार्मिकों के आर्थिक हितों में अभिवृद्धि करने तथा उनका मनोबल बढ़ाने हेतु जिन सहकारी गन्ना समितियों में सातवॉ वेतनमान अनुमन्य किया जा चुका है, उनके कार्मिकों को मॅहगाई भत्ते की बढ़ी हुई किश्त की स्वीकृति प्रदान की गई है।
निबन्धक ने बताया कि, सहकारी गन्ना समितियों के कार्मिकों को उच्चीकृत वेतनमान का लाभ प्रदान करने के साथ ही बढे़ हुए महॅगाई भत्ते की किश्त का लाभ दिये जाने से पूर्व गन्ना समितियों की वित्तीय स्थिति का आंकलन किया गया तथा संस्थाहित को ध्यान में रखते हुए बढे़ हुए डी.ए. के भुगतान की स्वीकृति प्रदान की गई है।
यह भी उल्लेखनीय है कि, अभी हॉल ही में सक्षम पाई गयी प्रदेश की गन्ना समितियों में लागू छठे वेतनमान को उच्चीकृत कर सातवॉ वेतनमान अनुमन्य किया गया है। उच्चीकृत वेतनमान के तुरन्त बाद नये वर्ष में बढे हुए महॅगाई भत्ते की किश्त की स्वीकृति मिलने से कर्मचारियों की खुशी दोगुनी हो गयी है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली

सीतापुर में 19 शिक्षक, शिक्षिकायें बर्खास्त