गणतंत्र दिवस पर होंगे 100 कैदी रिहा

लखनऊ: प्रदेश सरकार गणतंत्र दिवस पर अच्छे आचरण वाले उम्रदराज और गंभीर बीमारियों से पीड़ित 100 कैदियों को रिहा करेगी। 60 साल की उम्र पार कर चुके 16 साल की सजा पूरी करने वाले व गम्भीर बीमारी वाले पात्र होंगे। शासन ने जेल मुख्यालय द्वारा भेजे गए पात्र कैदियों की फाइलें परखी। शासन अगली बैठक में चयनित पात्र कैदियों की सूची राज्यपाल को भेजेगा। कैदियों के रिहाई पर अंतिम फैसला राज्यपाल लेंगी। हालांकि प्रदेश में विधान सभा चुनाव को लेकर लागू आचार चुनाव संहिता के मद्देनजर शासन चुनाव आयोग से भी अनुमति लेने पर विचार कर रहा है।

जिन  जेलों के कैदी रिहा होंगे

यह कैदी लखनऊ की आदर्श जेल, नारी बन्दी निकेतन के अलावा वाराणसी, बरेली, आगरा, फतेहगढ़ और नैनी सेंट्रल जेल के साथी ही जिला जेल के कैदी रिहाई के पात्र होंगे। आईजी जेल आनन्द कुमार ने रिहाई के पात्र कैदियों का ब्यौरा शासन को भेज दिया है।

यह हैं पात्र : प्रदेश सरकार द्वारा बनाई गई रिहाई की स्थायी नीति के तहत 16 वर्ष की वास्तविक सजा काट चुके अच्छे चाल चलन वाले कैदी पात्र होंगे। जिनकी उम्र 60 साल पार कर चुकी है। कैंसर, गुर्दा, दिल, ब्रेन ट्यूमर आदि गम्भीर बीमारियों के कैदियों खास तरजीह मिलेगी।

वर्जन : रिहाई के मानक पूरे करने वाले प्रदेश की जेलों के पात्र कैदियों का ब्यौरा शासन को भेजा चुका है। रिहाई पर अन्तिम फैसला सरकार लेगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली