21 करोड़ की जमीन का सवा करोड़ में जबरन रजिस्ट्री

लखनऊ , लखनऊ के पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर के आदेश पर गोसाईगंज थाना द्वारा एमआई बिल्डर के दो निदेशकों एवं एक सहयोगी के खिलाफ विवेचना करने पर हजरतगंज निवासी धनप्रकाश बुधराजा की करोड़ों की जमीन को फर्जीवाड़ा कर जबरिया हड़पने का आरोेपी पाते हुए विभिन्न धाराओं में चार्जशीट दाखिल कर दिया गया है।

बताते चलें कि हजरतगंज के गुलमोहर अपार्टमेंट में रहने वाले धनप्रकाश बुधराजा की जमीन सरसवां अर्जुनगंज में है। जिसे शाहनजफ रोड निवासी लवी अग्रवाल उर्फ लवी कबीर खरीदना चाहता था। धनप्रकाश द्वारा जमीन बेचने को तैयार न होने पर लवी अग्रवाल अपने साथियों के संग धनप्रकाश के घर में घुस कर हसलहे के बल परिवार को बंधक बनाकर जबरिया एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर करा लिया। बाद में एमआई बिल्डर्स के निदेशको एवं सहयोगियों ने नए सिरे से जमीन का एग्रीमेंट तैयार कराया और बंदूक की नोक पर जान का भय दिखाकर मजीन के दस्तावेज पर हस्ताक्षर करा लिया और रजिस्ट्री आफिस में पंजीकृत भी करा लिया और पीड़ित को 21 करोड़ की जमीन के बदले सवा करोड़ रूपए ही दिए गये ।

पीड़ित द्वारा गोसाईगंज थाने में तहरीर दी गयी जिस पर पुलिस ने धमकी की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को बरी दिखाकर कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दिया। पीडित़ द्वारा आपत्ति कर पुनः लखनऊ के पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर से शिकायत की गयी। पुलिस आयुक्त के आदेश पर पुनः विवेचना की गयी जिसमें एमआई बिल्डर्स के निदेशकों मो. कादिर अली व मो. कासिम अली एवं उनके सहयोग लवी अग्रवाल द्वारा 6074.349 वर्गमीटर के फर्जी दस्तावेज पर 30727 वर्गमीटर जमीन हड़पने का आरोपी पाया गया। विवेचना में आरोपियों को बंधक बनाने, असलहे दम पर एग्रीमेंट कराने, अपहरण, धोखाधड़ी, छल, कूटरचित दस्तावेज तैयार करने का आरोपी पाया गया जिस पर पुलिस ने विभिन्न धाराओं में चार्जशीट तैयार कर कोर्ट में दाखिल कर दिया गया है। कोर्ट ने एमआई बिल्डर्स के निदेशकों को 4 फरवरी को कोर्ट में दाखिल होने का आदेश दिया है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली