श्रीलंका में 700 रुपये किलो हरी मिर्च तो 200 रुपये किलो बिका आलू

हमारा पड़ोसी देश श्रीलंका दिवालिया होने के कगार पर है. खाने-पीने के सामानों की कीमत आसमान छू रही हैं. महंगाई ने लोगों की कमर तोड़ दी है. श्रीलंका के एडवोकाटा इंस्टीट्यूट ने महंगाई को लेकर आंकड़े जारी किए हैं जिसमें बताया गया है कि खाद्यान्न वस्तुओं की कीमत में एक महीने में ही 15 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. इस इजाफे की सबसे बड़ी वजह सब्जियों की कीमत में बेतहाशा बढ़ोतरी बताई गई है.

एडवोकाटा इंस्टीट्यूट का BCI देश में खुदरा वस्तुओं की महंगाई को लेकर आंकड़े जारी करता है. BCI ने बताया है कि नवंबर 2021 से दिसंबर 2021 के बीच खाद्य वस्तुओं की महंगाई 15% बढ़ी है. इसका प्रमुख कारण सब्जियों की कीमतों में बढ़ोतरी है. श्रीलंका में 100 ग्राम मिर्च की कीमत जहां 18 रुपए थी वहीं, अब ये बढ़कर 71 रुपए हो गई है. यानी एक किलो मिर्च की कीमत 710 रुपए हो गई है. एक ही महीने में मिर्च की कीमत में 287% की बढ़ोतरी हुई है.

इसी तरह बैंगन की कीमतों में 51%, लाल प्याज की कीमत में 40% और बींस, टमाटर की कीमतों में 10% की वृद्धि हुई है. लोगों को एक किलो आलू के लिए 200 रुपए का भुगतान करना पड़ रहा है. श्रीलंका में आयात न हो पाने की वजह से मिल्क पाउडर की भी कमी हो गई है.

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली

सीतापुर में 19 शिक्षक, शिक्षिकायें बर्खास्त