महिला दरोगा, साथियों पर आरोप लगा कर घर बैठ गई

लखनऊ: इंस्पेक्टर व एक सिपाही पर खनन के खिलाफ कार्रवाई रोकने और अपशब्द कहने का आरोप लगाने वाली महिला दरोगा हसीना खातून अभी तक बयान देने के लिये एसीपी के सामने नहीं आयी। इतना ही नहीं मंगलवार को छुट्टी खत्म होने के बाद भी वह ड्यूटी पर नहीं आयी। एसीपी से महिला दरोगा ने अभी तबीयत सही न होने की बात कही है। डीसीपी मध्य अपर्णा गौतम के आदेश पर एसीपी पकंज श्रीवास्तव इस मामले की जांच कर रहे हैं।एसीपी कृष्णानगर पंकज ने बताया कि हसीना खातून ने बयान नहीं दिया है। उनसे कई बार सम्पर्क किया गया। सोमवार तक तो उनका मोबाइल ही बंद रहा। मंगलवार को उन्होंने कहा कि तबीयत सही होने पर वह ड्यूटी पर आयेंगी। तब ही बयान देंगी। हसीना खातून ने बंथरा इंस्पेक्टर अजय प्रताप सिंह और सिपाही अवध किशोर कई आरोप लगाये थे। आरोप लगाने से पहले उनका तबादला बंथरा कोतवाली से सरोजनीनगर कोतवाली कर दिया गया था। पर, वह सरोजनीनगर कोतवाली में ड्यूटी करने की बजाय छुट्टी पर चली गई। उनके आरोपों की जांच एसीपी ने शुरू की तो वह सहयोग नहीं कर रही है। डीसीपी का कहना है कि दरोगा ने अभी तक बयान नहीं दिया है। इसलिये जांच रिपोर्ट पूरी नहीं हो पा रही है।