नहीं रही स्वर कोकिला ,देश में शोक लहर

 

मुंबई: स्वर कोकिला लता मंगेशकर का  निधन हो गया। लता मंगेशकर 92 साल की थीं. वे पिछले दिनों कोरोना संक्रमित पाई गई थीं। इसके बाद उन्हें मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। लता मंगेशकर के निधन पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी समेत तमाम नेताओं ने दुख व्यक्त किया। निधन के बाद गडकरी उनके अंतिम दर्शन के लिए ब्रीच कैंडी अस्पताल भी पहुंचे।  

पीएम बोले- मेरा दुख शब्दों से परे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, मेरा दुख शब्दों से परे है। दयालु और देखभाल करने वाली लता दीदी हमें छोड़कर चली गईं। वह हमारे देश में एक खालीपन छोड़ गई है जिसे भरा नहीं जा सकता। आने वाली पीढ़ियां उन्हें भारतीय संस्कृति के एक दिग्गज के रूप में याद रखेंगी, जिनकी सुरीली आवाज में लोगों को मंत्रमुग्ध करने की अद्वितीय क्षमता थी।\

मजबूत और विकसित भारत देखना चाहती थी लता दीदी- पीएम

पीएम ने कहा, लता दीदी के गानों ने कई तरह के इमोशन्स को उभारा। उन्होंने दशकों तक भारतीय फिल्म जगत के बदलावों को करीब से देखा। फिल्मों से परे, वह हमेशा भारत के विकास के बारे में भावुक थीं। वह हमेशा एक मजबूत और विकसित भारत देखना चाहती थी।

पीएम ने कहा, मैं इसे अपना सम्मान मानता हूं कि मुझे हमेशा लता दीदी से अपार स्नेह मिला है। उनके साथ मेरी बातचीत अविस्मरणीय रहेगी। लता दीदी के निधन पर मुझे अपने साथी भारतीयों के साथ शोक है. उनके परिवार से बात की और संवेदना व्यक्त की।

गडकरी बोले- उन्होंने संगीत की दुनिया को सुरों से नवाजा

नितिन गडकरी ने कहा, देश की शान और संगीत जगत की शिरमोर स्वर कोकिला भारत रत्न लता मंगेशकर जी का निधन बहुत ही दुखद है। पुण्यात्मा को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि। उनका जाना देश के लिए अपूरणीय क्षति है। वे सभी संगीत साधकों के लिए सदैव प्रेरणा थी। उन्होंने कहा, 30 हजार से अधिक गाने गाकर उनकी आवाज ने संगीत की दुनिया को सुरों से नवाजा है. लता दीदी बेहद ही शांत स्वभाव और प्रतिभा की धनी थी।

केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा, सब देशवासियों की तरह मेरे लिए भी उनका संगीत बहुत ही प्रिय रहा है, मुझे जब भी समय मिलता है मैं उनके द्वारा गाए गए नगमें जरूर सुनता हूं। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे और परिजनों को सांतवना दे।

राहुल गांधी बोले- उनकी सुनहरी आवाज अमर है

राहुल गांधी ने कहा, लता मंगेशकर के निधन की दुखद खबर मिली। वह कई दशकों तक भारत की सबसे प्रिय आवाज बनी रहीं। उनकी सुनहरी आवाज अमर है और उनके प्रशंसकों के दिलों में गूंजती रहेगी। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार, दोस्तों और फैन के साथ।

सीएम योगी ने जताया दुख

यूपी के सीएम योगी ने ट्वीट किया, स्वर कोकिला, 'भारत रत्न' आदरणीया लता मंगेशकर जी का निधन अत्यंत दुखद और कला जगत की अपूरणीय क्षति है। प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्री चरणों में स्थान तथा शोकाकुल परिजनों व उनके असंख्य प्रशंसकों को यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करें।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली