उत्तर प्रदेश में स्पीड लेजर गन तेज रफ्तार वाहन पर कसेंगी नकेल

लखनऊ :  मुंबई, दिल्ली के तर्ज पर अब यूपी में स्पीड लेजर गन का इस्तेमाल किया जाएगा। इससे सड़क पर तेज रफ्तार वाहन चलाने वालों पर नकेल कसी जाएगी। ताकि तेज रफ्तार में होने वाले सड़क हादसों को कम किया जा सके। परिवहन विभाग इस लेजर गन को खरीदने की दिशा में कवायद तेज कर दिया है। तीन माह के भीतर लखनऊ समेत यूपी के हाइवे पर स्पीड लेजर गन से ऑटोमेटिक चालान कट जाएगे। राजधानी लखनऊ में शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक तेज रफ्तार में हादसों का कहर लगातार जारी है। बेखौफ होकर धड़ल्ले से दौड़ रहे खूनी वाहनों की चपेट में आकर रोजाना लोग अपनी जान गवां रहे हैं। अब ऐसे वाहनों के खिलाफ धरपकड़ करने के बजाए लेजर गन से ओवर स्पीड में दो हजार रुपये का जुर्माना काटेगा। बता दें कि बीते दिनों आगरा एक्सप्रेस वे पर लेजर गन का सफल प्रयोग करने के बाद परिवहन विभाग 275 लेजर गन प्रवर्तन दलों के लिए खरीदेगा।  

स्पीड लेजर गन की खूबियां

रफ्तार को मापने वाला स्पीड लेजर गन एक उपकरण है। जो चलती वस्तुओं की गति को मापने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। मसलन, क्रिकेट, बेसबॉल, टेनिस आदि में गेंद की गति को मापने के लिए स्टीक माप करता है। इस लेजर गन की खास बात यह है कि यह फोटो भी खींचता है। ताकि तेज रफ्तार वाहन का प्रमाण पेश किया जा सके।

मुंबई, दिल्ली और जम्मू में सफल रहा लेजर गन 

परिवहन विभाग के अधिकारी बताते है कि स्पीड लेजर गन का इस्तेमाल कई राज्यों में पहले से हो रहा है। इनमें दिल्ली, मुंबई, मध्यप्रदेश, जम्मू कश्मीर में लेजर गन का प्रयोग सफल रहा। अब लेजर गन का प्रयोग यूपी में में होगा। जिससे तेज रफ्तार वाहनों पर लगाम लग सके।   यूपी परिवहन आयुक्त धीरज साहू ने बताया कि ओवर स्पीड वाहनों पर लगाम लगाने के लिए स्पीड लेजर गन खदीदने की कवायद शुरू हो गई है। आगामी तीन माह के भीतर यूपी के हर आरटीओ चेकिंग दल के पास स्पीड लेजर गन होंगे। रोजाना लक्ष्य के मुताबिक ओवर स्पीड में गन से चालान कटेंगे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली