बड़े शहरों को बिजली तारों के मकड़जाल से शीघ्र मुक्त

प्रदेश के ऊर्जा एवं अतिरिक्तऊर्जा मंत्री  मंत्री श्री ए0के0 शर्मा ने कहा कि विगत 04 वर्षों में इस वर्ष भीषण गर्मी के कारण बिजली की मांग सर्वाधिक बढ़ी है, जिसके कारण विभाग के सामने चुनौतियां हैं। फिर भी हमारी सरकार सभी क्षेत्रों के उपभोक्ताओं को निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए संकल्पित है। विद्युत व्यवस्था को बेहतर बनाने एवं इसके सुचारू संचालन के लिए मोबाइल टीम बनाकर नियमित रूप से अलर्ट होकर मॉनीटरिंग करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि कॉल सेंटर 1912 को और व्यवस्थित ढंग से संचालित कर इसमें आ रही शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण एवं सहयोग के साथ त्वरित समाधान किया जाय। उन्होंने शत-प्रतिशत बिलिंग के साथ सभी उपभोक्ताओं के यहां मीटर लगाने तथा बड़े बकायेदारों से बिजली बिल वसूलने के लिए कठोर कार्यवाही करने से भी न हिचकने को कहा। उन्होंने बड़े शहरों खासकर लखनऊवासियों को बिजली तारों के मकड़जाल/जंजाल की व्यवस्था से शीघ्र मुक्त करने के भी निर्देश दिये हैं। उन्होंने विद्युत व्यवस्था के सुचारू संचालन के लिए बकायेदार उपभोक्ताओं सेे अपना बिजली बिल समय से जमा करने की अपील भी की।

ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा आज शक्ति भवन में मध्यांचल एवं दक्षिणांचल डिस्काम की विद्युत व्यवस्था एवं आपूर्ति, बिलिंग, ट्रिपिंग, फाल्ट, राजस्व वसूली एवं मॉनीटरिंग की सम्बंधित अधिकारियों के साथ वर्चुअल समीक्षा बैठक कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने उपभोक्ताओं एवं जन-प्रतिनिधियों से भी विद्युत आपूर्ति की जानकारी ली एवं विद्युत व्यवस्था में सुधार के लिए उनके सुझाव जानें। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार एवं मुख्यमंत्री जी की मंशा है कि उपभोक्ताओं को निर्बाध विद्युत आपूर्ति मिले, लोगों की शिकायतों का शीघ्र समाधान हो, इसके लिए ईमानदारी से कार्य किया जाय। उन्होंने कहा कि प्रबंधकीय व्यवस्था की कमी से विद्युत व्यवस्था चरमराई हुई है, जिसके लिए सम्बंधित डिस्काम के एमडी श्री अनिल ढिंगरा एवं श्री अमित किशोर के साथ सभी मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता एवं अधिशासी अभियंता तक के अधिकारियों को अपनी कार्य संस्कृति में सुधार करने तथा इसके लिए जन-प्रतिनिधियों का सहयोग लेने एवं उनके सुझाव पर अमल करने के भी आवश्यक निर्देश दिये।
ऊर्जा मंत्री ने कहा कि कॉल सेंटर 1912 की शिकायतों का त्वरित निस्तारण किया जाय और इसका फीडबैक भी लिया जाय, इस व्यवस्था को आंतरिक रूप से परिवर्तित करने की भी व्यवस्था की जाय, जिससे कि लोग कहीं से भी इसमें कॉल कर अपनी समस्या का समाधान करा सकें। उन्होंने इन दोनो डिस्काम के जिलों के अधीक्षण अभियंता को कम बिलिंग पर सख्त चेतावनी दी है और एक सप्ताह के भीतर बिलिंग में सुधार के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपनी जिम्मेदारी के निर्वहन से बच नहीं सकते। बिजली बकायेदारों एवं बिजली चोरी करने वालों के साथ-साथ नकारे अधिकारियों के खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज होगी। उन्हांेने बिजली बिल न जमा करने वाले, धमकी देने वालों के खिलाफ कार्यवाही के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि उपभोक्ताओं को गलत बिल देने के लिए सम्बंधित कम्पनी और मीटर रीडर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने के भी निर्देश दिये।
     ऊर्जा मंत्री ने कहा है कि बिजली चोरी रोकने के हर संभव प्रयास करने के साथ ही चोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। राजस्व हानि को कम करने तथा इसकी वसूली समय से हो, इसके लिए उपभोक्ताओं को समय से सही बिल मिले, यह सुनिश्चित किया जाए। बिजली बकायेदारों से लगातार संपर्क एवं संवाद बनाएं तथा बड़े बकायेदारों से बिल वसूली के लिए सख्ती भी की जाए। उन्होंने बिजली व्यवस्था के सुचारु संचालन के लिए झूलते/ लटकते/जर्जर तारों व पोल के साथ खराब ट्रांसफार्मर को योजनाबद्ध तरीके से हटाने व मौके पर जाकर शीघ्र ही सुधारने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि ऐसी हालात में जनहानि के साथ-साथ आगजनी की भी संभावना बनी रहती है।ऐसी विद्युत दुर्घटनाये हमारी लापरवाही एवं अनदेखी के कारण होती हैं, जिसके लिए हम सीधे तौर पर जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि ट्रिपिंग या टेक्निकल फाल्ट के कारण बिजली कटौती ना होने पाए,इसके लिए पहले से ही सावधानी बरती जाए। उपकेंद्र, फीडर एवं ट्रांसफॉर्मर के लोड की निरन्तर जांच की जाय।साथ ही इनके ओवरलोड पाये जाने पर इन्हें क्षतिग्रस्त होने से बचाने के लिए समय से आवश्यक सुधार के कार्य कर लिये जाय।
 ऊर्जा मंत्री श्री शर्मा ने कहा है कि भीषण गर्मी में निर्धारित रोस्टर के अनुरूप विद्युत आपूर्ति में हो रही दिक्कतों एवं शिकायतों को मुख्यमंत्री जी ने गंभीरता से लिया  है।उन्होंने रोस्टर के अनुरूप ही सभी क्षेत्रों को बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं कार्यों में शिथिलता पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा है कि तेज गर्मी का मौसम चल रहा है, ऐसे में अनावश्यक बिजली कटौती न हो।