जयमाल के बाद दूल्हन की माँ ने की दूल्हें की पिटाई

जयमालल होने के बाद लड़की पक्ष ने विवाह के लिए दूल्हे को घर के अंदर बुलाया,  जहां घर के अंदर दुल्हन की मां ने दूल्हे को थप्पड़ों से मारना शुरू कर दिया. दूल्हे के पिता का आरोप है कि बारातियों को भी बंधक बना कर उन्हें भी बेइज्जत किया गया.जानें पूरा मामला, प्रदेश के बाराबंकी जिले में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर आप हैरान हो जाएंगे.  जिले के देवा कोतवाली क्षेत्र के इब्राहिमपुर गांव में दुल्हन ने शादी से उस वक्त इनकार कर दिया जब जयमाल की सारी रस्म पूरी हो चुकी थीं. दूल्हे पक्ष का आरोप है कि लड़की पक्ष ने जयमाल होने तक नाश्ता, द्वार पूजा और जयमाला की सारी रस्में पूरी की. 

दुल्हन की मां ने मारे दूल्हे को थप्पड़

जयमाल होने के बाद लड़की पक्ष ने विवाह के लिए दूल्हे को घर के अंदर बुलाया,  जहां घर के अंदर दुल्हन की मां ने दूल्हे को थप्पड़ों से मारना शुरू कर दिया. दूल्हे के पिता का आरोप है कि बारातियों को भी बंधक बना कर उन्हें भी बेइज्जत किया गया. दुल्हन के लिए लेकर गए जेवरात और सामान भी लड़की वालों ने रख लिए.  पीड़ित पक्ष ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर मामले की शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की है.

नाश्ता, द्वार पूजा और जयमाला की रस्मों के बाद बनाया बंधक

बाराबंकी जिले में जहांगीराबाद के रहने वाले, ओम प्रकाश अपने बेटे दिनेश कुमार और बारातियों के साथ शादी करने, बाराबंकी जिले के थाना देवा क्षेत्र के इब्राहिमपुर के रहने वाले जगदीश प्रसाद रावत के घर पहुंचे थे. जहां

बारात पहुंचने के बाद नाश्ता, द्वार पूजा और जयमाला की रस्म पूरी की गई. उसके बाद विवाह के लिए लड़के को घर के अंदर बुलाया गया. यहां पर आरोप है कि लड़की की मां ने दूल्हे को थप्पड़ों से मारना शुरू कर दिया. दूल्हा और उनके साथियों को घर के अंदर ही बंधक बना लिया गया.

दूल्हे के पिता ने पुलिस को दी तहरीर

दूल्हे के पिता ने पुलिस को दिए गए प्रार्थना पत्र में बताया है कि दूल्हे को घर के अंदर विवाह के लिए बुलाया गया, जहां घर के अंदर दुल्हन की मां ने दूल्हे को थप्पड़ों से मारना शुरू कर दिया। दूल्हा और उनके साथियों को घर के अंदर ही बंधक बना लिया गया. दूल्हे पक्ष के लोगों का आरोप है कि दुल्हन के लिए लेकर गये जेवरात और सामान उन लोगों ने रख लिए.  लड़की ने भी शादी करने से इनकार कर दिया है. बंधक बने दूल्हे ने रात को ही 112 नम्बर पर फोन कर पुलिस को इसकी सूचना दी. जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने बंधक बने दूल्हे और बारातियों को लड़की पक्ष वालों से छुड़वाया.

दूल्हा नहीं आया पसंद

लड़के पक्ष वालों का आरोप है कि उन्हें दूल्हा पसंद नहीं था. लड़की किसी दूसरे लड़के से शादी करना चाह रही है. इसलिए दो दिन बाद फिर उनके घर बारात आने वाली है. लड़के वालों का कहना है, लड़की पक्ष के लोगों ने पूर्व में भी कई बारात जेवरात लेकर वापस करवाई है. फिलहाल इस मामले में शिकायत मिलने के बाद सीओ सिटी आतिश कुमार ने थाना देवा पुलिस को जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.

पुलिस कर रही कार्रवाई की बात

सीओ सिटी आतिश कुमार सिंह का कहना है कि ओम प्रकाश ने एक प्रार्थना पत्र दिया है. ये जहांगीराबाद क्षेत्र के रहने वाले हैं. इनके बेटे का विवाह तय हुआ था. लेकिन इनका आरोप है कि लड़की पक्ष ने शादी नहीं की और जो गहने थे वो भी अपने कब्जे में कर लिए हैं. इस संबंध में इनके द्वारा एक प्रार्थना पत्र दिया गया है. इसकी जांच की जा रही है, और जल्द ही जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. जी न्यूज