वे हिंदुओं की राजनीति करते, उनका सम्मान है - संजय राउत

शिवसेना नेता संजय राउत अपने तीखे हमलों के लिए जाने जाते हैं. जब से महाराष्ट्र में शिवेसना और बीजेपी के रास्ते अलग हुए हैं, उनका भाजपा के नेताओं पर हमला भी उतना ही तेज हो गया है. लेकिन आजतक से बात करते हुए संजय राउत की तरफ से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की दिल खोलकर तारीफ की गई.

दरअसल संजय राउत से सवाल पूछा गया था कि यूपी में लाउडस्पीकर को लेकर तेजी से कार्रवाई हो रही है, राज ठाकरे भी उनकी तारीफ कर रहे हैं. इसी पर राउत ने जवाब देते हुए कहा था कि वे सीएम योगी आदित्यनाथ का काफी सम्मान करते हैं. उनकी नजरों में योगी हिंदुओं की राजनीति करते हैं. उन्होंने यूपी में विकास किया है. 

संजय राउत ने ये भी जानकारी दी कि वे जब भी अयोध्या जाते हैं और अगर उनकी सीएम योगी से मुलाकात हो जाती है तो वे हमेशा अच्छे से मिलते हैं. वैसे राउत की तरफ से योगी की तारीफ की गई, लेकिन राज ठाकरे का जिक्र करते हुए वे कह गए कि उनके द्वारा पहले यूपी के मुख्यमंत्री के लिए काफी कुछ कहा जाता था. उन्होंने यहां तक बताया कि पहले राज ठाकरे सीएम योगी 'टकलू' कहकर संबोधित करते थे. वे उनकी कार्यशैली का मजाक बनाते थे.

बातचीत के दौरान संजय राउत ने सड़कों पर पढ़ी जाने वाली नमाज को लेकर भी बड़ा बयान दिया था. उन्होंने जोर देकर कहा था कि महाराष्ट्र में सबसे पहले अगर ये मुद्दा किसी ने उठाया था तो वे बाला साहेब ठाकरे थे. उनकी नजरों में जब महाराष्ट्र में शिवसेना की सरकार बनी थी, तब बाला साहेब ठाकरे ने सुझाव दिया था कि मस्दिदों का सर्फेस एरिया बढ़ाया जा सकता है, ऐसा होने पर लोग सड़क पर नमाज पढ़ने नहीं आएंगे.

नमाज के अलावा शिवसेना नेता ने लाउडस्पीकर विवाद पर दी गई राज ठाकरे की चेतावनी पर भी तंज कसा. उन्होंने बोला कि जिसकी खुद की पार्टी डेड हो गई हो, वो क्या किसी को डेडलाइन देगा. अब जानकारी के लिए बता दें कि राज ठाकरे द्वारा राज्य सरकार को तीन मई तक का अल्टीमेटम दिया गया है. उनके मुताबिक अगर मस्जिदों से तब तक लाउडस्पीकर नहीं हटाए गए तो वे लाउडस्पीकर पर ही हनुमान चालीसा का पाठ चलाएंगे. उनकी पार्टी द्वारा पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन भी किया जाएगा.

यह भी जानें

जिसकी पार्टी ही डेड हो गई वो क्या डेडलाइन देगी....राज ठाकरे पर संजय राउत का तंज

नवनीत राणा ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को लिखी चिट्ठी, संजय राउत पर लगातार परेशान करने का लगाया आरोप

दरअसल संजय राउत से सवाल पूछा गया था कि यूपी में लाउडस्पीकर को लेकर तेजी से कार्रवाई हो रही है, राज ठाकरे भी उनकी तारीफ कर रहे हैं. इसी पर राउत ने जवाब देते हुए कहा था कि वे सीएम योगी आदित्यनाथ का काफी सम्मान करते हैं. उनकी नजरों में योगी हिंदुओं की राजनीति करते हैं. उन्होंने यूपी में विकास किया है. 

संजय राउत ने ये भी जानकारी दी कि वे जब भी अयोध्या जाते हैं और अगर उनकी सीएम योगी से मुलाकात हो जाती है तो वे हमेशा अच्छे से मिलते हैं. वैसे राउत की तरफ से योगी की तारीफ की गई, लेकिन राज ठाकरे का जिक्र करते हुए वे कह गए कि उनके द्वारा पहले यूपी के मुख्यमंत्री के लिए काफी कुछ कहा जाता था. उन्होंने यहां तक बताया कि पहले राज ठाकरे सीएम योगी 'टकलू' कहकर संबोधित करते थे. वे उनकी कार्यशैली का मजाक बनाते थे.

बातचीत के दौरान संजय राउत ने सड़कों पर पढ़ी जाने वाली नमाज को लेकर भी बड़ा बयान दिया था. उन्होंने जोर देकर कहा था कि महाराष्ट्र में सबसे पहले अगर ये मुद्दा किसी ने उठाया था तो वे बाला साहेब ठाकरे थे. उनकी नजरों में जब महाराष्ट्र में शिवसेना की सरकार बनी थी, तब बाला साहेब ठाकरे ने सुझाव दिया था कि मस्दिदों का सर्फेस एरिया बढ़ाया जा सकता है, ऐसा होने पर लोग सड़क पर नमाज पढ़ने नहीं आएंगे.

नमाज के अलावा शिवसेना नेता ने लाउडस्पीकर विवाद पर दी गई राज ठाकरे की चेतावनी पर भी तंज कसा. उन्होंने बोला कि जिसकी खुद की पार्टी डेड हो गई हो, वो क्या किसी को डेडलाइन देगा. अब जानकारी के लिए बता दें कि राज ठाकरे द्वारा राज्य सरकार को तीन मई तक का अल्टीमेटम दिया गया है. उनके मुताबिक अगर मस्जिदों से तब तक लाउडस्पीकर नहीं हटाए गए तो वे लाउडस्पीकर पर ही हनुमान चालीसा का पाठ चलाएंगे. उनकी पार्टी द्वारा पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन भी किया जाएगा.