महाराष्ट्र में हथियार मिलने का सिलसिला जारी

महाराष्ट्र में हथियार मिलने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. धुले में 2 दिन पहले पकड़े गए तलवारों के जखीरे के बाद अब नांदेड़ में पुलिस ने एक ऑटो से तलवारों का जखीरा बरामद किया है. पुलिस ने 25 तलवारों के साथ 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. ये तलवारें पंजाब के अमृतसर से ट्रेन के जरिए नांदेड़ लाई गई थीं. इस मामले में और जानकारी जुटाने के लिए पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है. 

गिरफ्तारी की कार्रवाई शिवाजी नगर थाने की पुलिस ने की है. डीबी दस्ता प्रमुख API वावडे के मुताबिक पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि शहर के गोकुलनगर इलाके में एक ऑटो के अंदर एक बक्सा रखा है, जिसमें तलवारें ले जाई जा रही हैं. सूचना मिलने के बाद पुलिस ने अभियान चलाकर ऑटो की तलाशी ली. जांच में पुलिस को ऑटो से 25 तलावारों का जखीरा मिला.

तलवारों का जखीरा सचखंड एक्सप्रेस के जरिए अमृतसर से नांदेड़ लाया गया था. पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है. नांदेड़ में तलवारों का जखीरा पकड़ाने से लोगो में भय और चिंता की स्थिति बन गई है. दरअसल, पहले ही नांदेड़ कई आपराधिक घटनाएं हो चुकी हैं, जिसने लोगों की चिंता को और बढ़ा दिया है. तलवारें किसने और क्यों मंगाई थीं, फिलहाल इसका पता नहीं चल सका है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार शेवाले ने बताया कि आरोपी की गुरुद्वारा परिसर में दुकान है.

बता दें कि 2 दिन पहले ही 28 अप्रैल को महाराष्ट्र के धुले में पुलिस ने हथियारों का जखीरा बरामद किया था. पुलिस को धुले के सोंगिर से 89 तलवार और हथियारों का जखीरा मिला था. भारी मात्रा में हथियारों के बरामद होने के बाद भाजपा नेता राम कदम ने इसे महाराष्ट्र में बड़े दंगे कराने की साजिश बताया था. भाजपा नेता ने सवाल उठाते हुए पूछा था कि राज्य में आखिर कौन दंगा कराना चाहता है, क्या कांग्रेस इस षड्यंत्र में शामिल है. 

राम कदम ने कहा था कि इससे पहले भी राज्य में भारी मात्रा में हथियार बरामद किए जा चुके हैं. उन्होंने बताया था कि पहले पुणे में तलवारें और शस्त्र बरामद किए गए थे, जो औरंगाबाद ले जाए जा रहे थे और अब धुले में हथियारों का जखीरा बरामद किया गया है. बता दें कि तीन सप्ताह पहले पुणे में 97 तलवारें बरामद की गई थीं. मामले में चार लोगों को अरेस्ट किया गया था. तलवारों के अलावा आरोपियों के पास से खुखरी और अन्य सामान भी बरामद किए गए थे. जांच पड़ताल में जानकारी सामने आई थी कि बरामद तलवारों को औरंगाबाद और अहमदनगर भेजा जाना था.

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली

सीतापुर में 19 शिक्षक, शिक्षिकायें बर्खास्त