किसानों को विभाग की योजनाओं के विषय में अधिक से अधिक करें जागरूक

प्रदेश के उद्यान, कृषि विपणन, कृषि विदेश व्यापार, कृषि निर्यात राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री दिनेश प्रताप सिंह ने उद्यान विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि उद्यान विभाग की संचालित योजनाओं को पूरी पारदर्शिता एवं समयबद्धता से लागू कराएं। उन्होंने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी प्रदेश को देश का नं0 1 प्रदेश एवं नं0 1 अर्थव्यवस्था बनाने का संकल्प लिया है। इस लक्ष्य को हासिल करने में उद्यान विभाग की भी अहम भूमिका होगी। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि आगामी 100 दिन, 06 माह, एक वर्ष और 05 वर्ष की कार्ययोजना बनाकर लक्ष्य प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी उपज में बढ़ोत्तरी के लिए गुणवत्तायुक्त बीज उपलब्ध कराएं ताकि किसान अपने आय में वृद्धि कर सकें।

उद्यान मंत्री आज उद्यान निदेशालय में विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा विभाग द्वारा कराये जा रहे कार्यों को समयबद्ध तरीके से कराएं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि आलू किसानों की उपज के भण्डारण की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं ताकि उनके आलू सुरक्षित रहे। उन्होंने कहा कि आलू उत्पादन को देखते हुए शीतगृह बनाये जाएं।
श्री सिंह ने कहा कि उद्यान विभाग किसानों के हितों में कटिबद्ध है। उद्यान विभाग की योजनाओं को प्रदेश के किसानों तक हर हाल में पहुंचाया जाये। उन्होंने कहा कि किसानों को विभाग की योजनाओं की जानकारी के लिए व्यापक रूप से प्रचार-प्रसार कराया जाय। किसानों को कार्यशाला के आयोजन, पम्पलेट, गोष्ठियां आदि के माध्यम से विभाग की योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दें। उन्होंने किसानों को आर्गेनिक खेती के लिए प्रेरित करने के तकनीकी जानकारी दिलाने के लिए भी निर्देश दिये हैं।
उद्यान मंत्री ने कहा कि नवयुवकों तथा बेरोजगारों को उद्यान विभाग से सम्बंधित योजनाओं के विषय में प्रशिक्षण देकर उनको आत्मनिर्भर बनाएं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि पाली हाउस के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि पाली हाउस में खेती करने से किसानों की आय में वृद्धि होगी और किसान खुशहाल होंगे।
उद्यान निदेशक डॉ0 आर0के0 तोमर ने मा0 मंत्री जी को विभाग की योजनाओं के बारे में विस्तार से अवगत कराया। उन्होंने मा0 मंत्री जी को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा दिये गये निर्देशों को कड़ाई से अनुपालन किया जायेगा।