वृद्ध महिलाओं के लिए शुरू हुआ कृष्ण कुटीर

उत्तर प्रदेश सरकार तथा भारत सरकार के मध्य दिल्ली के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय में 1000 बेड के वृंदावन स्थित कृष्ण कुटीर के संचालन के सम्बंध में एम0ओ0यू0 पर हस्ताक्षर किये गये। सचिव, महिला एवं बाल विकास, भारत सरकार की उपस्थिति में आयोजित इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से निदेशक महिला कल्याण मनोज राय द्वारा हस्ताक्षर किये गये। 

वृंदावन स्थित कृष्णकुटीर लगभग 3.5 एकड़ में 54 करोड़ की लागत से तैयार कराया गया है जिसमें एकसाथ 1000 वृद्ध अथवा विधवा महिलाओं को आवासित किये जाने की व्यवस्था की की गई है। साथ ही यहाँ  महिलाओं को फिजिओथेरेपी सहित आवश्यक जाचें, दवायें आदि की भी व्यवस्था की गई है। कृष्णकुटीर में महिलाओं के निःशुल्क आश्रय, भोजन, स्वास्थ्य व चिकित्सा, देखरेख, जीवन कौशल, मनोरंजन, भ्रमण, आदि का पूर्ण प्रबंध है। विभाग द्वारा निगरानी हेतु पूरे में परिसर सी0सी0टी0वी0 कैमरे लगायें गयें हैं।
परिसर में 10-10 बेड के 100 कमरों सहित, मॉडयूलर रसोई, एकसाथ खाना खाने हेतु, डाइनिंग हाल, ओपन थेयटर, प्रशिक्षण सभागार, आईसोलोशन रूम, आदि की व्यवस्था है। साथ ही परिसर में ही 150 किलोवाट क्षमता का सोलर प्लांट लगाकर उसे संचालित कराया जा रहा है। वर्तमान में लगभग 150 महिलायें यहाँ आवासित हैं। विभाग निरंतर प्रयासरत् है कि इन्हें कौशल विकास मिशन के साथ मिलकर नवीनतम ट्रेड्स में कौशल प्रशिक्षण भी दिया जाये।

किसी भी जरूरतमंद वृद्ध महिला अथवा 18 वर्ष से ऊपर की ऐसी महिला जिसके पति की मृत्यु हो चुकी हो, उसे आश्रय हेतु यहॉ भेजा जा सकता है। इस अवसर पर महिला कल्याण निदेशक मनोज राय ने कहा कि प्रदेश सरकार और हमारा विभाग महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन हेतु प्रतिबद्ध है, कृष्णकुटीर इस ओर एक नया कदम है।
कृष्णकुटीर से संबंधित अधिक जानकारी हेतु यू0टयूब लिंक https://youtu.be/oyEhPqZEn9Q से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही यहाँ  किसी जरूरतमद महिला को आश्रय दिलाने हेतु जिला प्रोबेशन अधिकारी, मथुरा से उनके मो0न0 7518024066 पर सीधा संपर्क किया जा सकता है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली