दो दिनों में वर्षा के वास्तविक आंकड़े जुटाने के निर्देश

प्रदेश के कृषि मंत्री माननीय सूर्य प्रताप शाही ने अधिकांश प्रदेश में बारिश की कमी पर विभागीय तैयारियों के संदर्भ में विभाग के उच्चाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने आगामी 2 दिनों में सभी जिलों में वर्षा की वास्तविक स्थिति के आंकड़े जुटाने के निर्देश दिए तथा समय पूर्व वैकल्पिक फसलों के बीजों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने, खाद की आपूर्ति समय पर करने तथा सिंचाई व्यवस्था के लिए स्वीकृत सोलर पम्पों की शीघ्र स्थापना कराने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए। 

माननीय कृषि मंत्री जी द्वारा कम वर्षा से प्रभावित क्षेत्रों में आकस्मिकता योजना बनाने के निर्देशों के क्रम में तोरिया के बीज व सब्जी पौंध उपलब्ध कराने हेतु सम्बन्धित विभागों को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये। इसी क्रम में पशुपालन विभाग को पशु चारे के बीज समय से कृषकों को उपलबध कराया जाय। अपर मुख्य सचिव, कृषि द्वारा अवगत कराया गया कि मौसम विभाग की जानकारी के अनुसार पूर्वी उत्तर प्रदेश में आने वाले दो दिनों में अच्छी बारिश होने की सम्भावना है तथा प्रदेश के अन्य भागों में 28 अगस्त से 01 सितम्बर तक बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया गया है।
बैठक में कृषि निदेशक, उत्तर प्रदेश को प्रदेश में 02 लाख तोरिया बीज के मिनीकिट वितरण करने हेतु निर्देशित किया गया इसी प्रकार प्रदेश में मक्के की खेती की स्थिति को देखते हुए 8 किलोग्राम मक्का मिनीकिट की पर्याप्त व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाय। कम वर्षा की स्थिति को देखते हुए प्रदेश में 10 हजार अतिरिक्त सोलर सिंचाई पम्प हेतु चयन प्रक्रिया प्रारम्भ की जाय। निदेशक, उद्यान को अगेती गोभी, टमाटर, मिर्च की पौध तैयार कर कृषकों को वितरण की कार्यवाही पूर्ण की जाय। प्रदेश में स्थापित उद्यान विभाग अन्तर्गत सेन्टर आफ एक्सीलेन्स में पर्याप्त मात्रा में पौध तैयार करने की कार्यवाही तुरन्त पूर्ण की जाय तथा 25 दिन से अधिक की नर्सरी कृषकों में वितरित की जाय।
मा0 मंत्री ने कहा कि पशुपालन विभाग यह सुनिश्चित कर लें कि प्रदेश में सीमावर्ती राज्यों से प्रसारित हो रहा लम्पी वायरस के प्रकोप से बचा जा सकें इसके लिये यह आवश्यक है कि अपने पशुओं को समय से इसका टीका लगवा लें। इस हेतु 17.5 लाख वैक्सीन की व्यवस्था विभाग द्वारा की जा रही है। निदेशक, उद्यान द्वारा अवगत कराया गया कि कम वर्षा के कारण कृषकों को सब्जी मिनीकिट उपलब्ध कराया जा सकता है जिस पर मा0 कृषि राज्य मंत्री श्री औलख द्वारा निर्देशित किया गया कि क्षेत्र विशेष के अनुसार ही सब्जी मिनीकिट तैयार किया जाय जिसमें धनिया, मूली, मेथी, मटर, मिर्च, टमाटर इत्यादि की पैकिंग की जाय।
माननीय पशुपालन मंत्री द्वारा अवगत कराया गया कि बरेली मण्डल के समस्त जनपदों में वर्षा की स्थिति 40 प्रतिशत से कम है अतः इन जिलों में विशेष सुविधायें प्रदान की जाय। जिसपर माननीय कृषि मंत्री जी द्वारा अवगत कराया गया कि इसकी रिपोर्ट तीन दिन के अन्दर प्रदेश के समस्त जनपदों से मंगायी गयी है इसी रिपोर्ट के आधार पर मंत्रिमण्डल द्वारा नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली

सीतापुर में 19 शिक्षक, शिक्षिकायें बर्खास्त