नही बच पायेगें नशे के कारोबारी

 

उत्तर प्रदेश में युवाओं को नशे की गिरफ्त में लाने के बाद अकूत संपत्ति एकत्र करने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का शिकंजा कस गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश में ड्रग्स माफिया के खिलाफ लडऩे के लिए 250 से अधिक अधिकारी और कर्मचारियों की टीम तैयार की गई है।सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर गठित एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स में केन्द्र सरकार की जांच एजेंसियों के अफसरों को भी शामिल किया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रदेशवासियों को नशे के आगोश में धकेलने वाले अवैध शराब के सौदागर और नार्को माफियाओं पर टेढ़ी निगाहें हैं। वह खुद इसकी मानिटरिंग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रोजाना अधिकारियों से अभियान की रिपोर्ट तलब कर उसकी समीक्षा कर रहे हैं। उनके इस एक्शन से नशे के सौदागरों में अब तो काफी खलबली मची है। मुख्यमंत्री के आदेश पर नशे के सौदागरों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई के लिए एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स का गठन कर दिया गया है। मुख्यालय स्तर पर एएनटीएफ का प्रभारी पुलिस उप महानिरीक्षक की नियुक्त किया जाएगा। प्रदेश में एएनटीएफ कैसे काम करेगी, इसका भी खाका तैयार कर लिया गया है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली

सीतापुर में 19 शिक्षक, शिक्षिकायें बर्खास्त