लड़की ने दोस्ती नही की तो पेट्रोल डालकर जलाया, लड़की की मौत - झारखंड

झारखंड के दुमका में मंगलवार सुबह पेट्रोल डालकर जलाई गई अंकिता ने रविवार को इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. एक तरफा प्यार में पागल शाहरुख नाम के सिरफिरे ने पेट्रोल डालकर लड़की को आग के हवाले कर दिया था. अंकिता की मौत के बाद दुमका में बीजेपी और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने विरोध मार्च निकाला और शहर बंदी का ऐलान किया. हिंदू संगठनों की मांग है कि शाहरुख को फांसी की सजा दी जाए.

रविवार सुबह जैसे ही यह खबर आई कि आग से झुलसी छात्रा अंकिता कुमारी की रिम्स में इलाज के दौरान मौत हो गई. उसके बाद से दुमका में तनाव का माहौल है. भाजपा और बजरंग दल कार्यकर्ता आरोपी शाहरुख को फांसी देने की मांग करते हुए सड़क पर उतर गए. कार्यकर्ताओं ने रविवार को दुमका का बाजार भी बंद करा दिया. मांग है कि आरोपी शाहरुख जो पुलिस गिरफ्त में है उसे फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से फांसी की सजा दी जाए. साथ ही अंकिता के परिजन जो काफी गरीब हैं उन्हें सहायता राशि प्रदान की जाए.

मामले में जांच कर रहे दुमका एसडीपीओ मुस्तफा ने कहा कि मामला एकतरफा प्यार का है और शाहरुख नाम के लड़के ने अंकिता पर पेट्रोल डालकर आग उसे लगा दी थी. अंकिता की इलाज के दौरान मौत हो गई है. आरोपी शाहरुख को घटना वाले दिन ही गिरफ्तार कर लिया गया था. इस मामले में आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जा रही है. दुमका में माहौल ना बिगड़े जिसके चलते पूरे इलाके में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.

वहीं, दुमका मामले को लेकर झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता का बयान सामने आया है. मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा है कि 

दुमका में बच्ची की हत्या को लेकर राज्य सरकार गंभीर है. दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. हमने मामले के फास्ट ट्रायल के लिए डीसी से बात की है.

क्या था पूरा मामला

एक तरफा प्यार में एक युवक शाहरुख हुसैन ने जरुआडीह मोहल्ला निवासी अंकिता कुमारी नामक 12वीं की छात्रा को उस वक्त पेट्रोल डालकर आग लगा दी जब वह अपने घर में सोई हुई थी. पांच दिन पहले मंगलवार सुबह शाहरुख उसके घर पहुंचा और खिड़की से अंकिता पर पेट्रोल डाल कर उसे आग के हवाले करके भाग गया था.

इस घटना में अंकिता बुरी तरह से जल गई थी. पहले उसका इलाज दुमका के फूलो झानो मेडिकल कॉलेज अस्पताल में चला, बाद में रिम्स रेफर किया गया जहां उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. आरोपी शाहरुख ने कहीं से अंकिता का मोबाइल नंबर निकाल लिया था और वो उससे दोस्ती करने के लिए बोल रहा था. अंकिता ने दोस्ती करने से मना कर दिया था. जिसके बाद यह घटना हुई है.

हालांकि, मरने से पहले अंकिता ने पुलिस और मजिस्ट्रेट को अपना बयान दर्ज करा दिया था. जिसमें शाहरुख द्वारा बार-बार परेशान करने की बात भी अंकिता ने कही थी.

बीजेपी ने झारखंड सरकार पर साधा निशाना

अंकिता वाले मामले को लेकर झारखंड के पूर्व सीएम और झारखंड विधानसभा में विपक्ष के नेता बाबूलाल मरांडी और दुमका की पूर्व विधायक डॉ. लुईस मरांडी ने ट्वीट कर सोरेन सरकार पर निशाना साधा है. बाबूलाल ने डॉ. लुईस मरांडी के ट्वीट को शेयर किया है जिसमें एक फोटो में हेमंत सोरेन अपने विधायकों के साथ पिकनिक मनाते नजर आ रहे हैं और दूसरे में अंकिता की तस्वीर है.

उन्होंने लिखा कि, '' ये दोनों तस्वीरें एक ही दिन की हैं. एक में राजा है और एक में प्रजा. हो सकता है पिकनिक की व्यस्तता के चलते सत्ता के पास तुम्हारी सुधि लेने का समय नहीं था. हो सके तो हमें माफ़ करना बेटी, इंसाफ़ ज़रूर मिलेगा.''

वहीं, डॉ. लुईस मरांडी ने लिखा है कि '' दुमका की बेटी जिंदगी की जंग हार गई ,रिम्स में तड़पती रही, पर सत्तापक्ष का कोई विधायक मिलने नहीं आया. खूंटी में पिकनिक मनाना रास आया लेकिन बेटी का हाल लेना किसी ने जरूरी नहीं समझा. अपराधी शाहरुख को फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से फांसी दो. न्याय की जंग जारी रहेगी, ओम शांति ''

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली

सीतापुर में 19 शिक्षक, शिक्षिकायें बर्खास्त