किसानों की फसलों के लिए भरपूर बिजली

प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा ने पॉवर कारपोरेशन एवम् ऊर्जा निगमों के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि बरसात की कमी से किसानों की फसलों को नुकसान से बचाने के लिए तथा उन्हें सिंचाई की पर्याप्त सुविधा मिले, इसके लिए उन्हें विद्युत् की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। ख़ासतौर पर ऐसे जिलों में जहां पर नलकूप आधारित सिंचाई पर निर्भरता ज्यादा हो, उन जिलों में विद्युत की आपूर्ति में विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होने कहा की किसानों के यहां निजी नलकूप में मीटर लगाने का उद्देश्य बिजली खपत की माप करना है, न कि बिलिंग करना है। किसानों को बिजली बिल अपने निजी नलकूप के लोड, हॉर्स पावर के सापेक्ष तथा पुरानी व्यवस्था के आधार पर ही देना है। उन्होंने कहा कि किसानों के बीच भ्रम फैलाया जा रहा है कि अब मीटर के आधार पर उन्हें बिल देना पड़ेगा, जो कि गलत है। उन्होंने कहा कि किसानों के यहां मीटर इसलिए लगाए जा रहे हैं, जिससे कि ऊर्जा खपत का पता चल सके। उद्योगों में, कृषि क्षेत्र में, वाणिज्यिक क्षेत्र में कितनी ऊर्जा खपत हो रही है। इसके लिए मीटर सब जगह लगाए जा रहे हैं। साथ ही प्रदेश में कितना लाइन लॉस और कितना टेक्निकल लॉस हो रहा है। इसकी जानकारी के लिए भी मीटर लगाए जा रहे हैं। किसानों की बिलिंग से इसका कोई लेना देना नहीं है। 

ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा ने आज शक्ति भवन में बिजली आपूर्ति, लाइन लॉस, निजी नलकूप कनेक्शन, बिलिंग, राजस्व वसूली, विद्युत् चोरी आदि की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने सभी डिस्कॉम के एमडी को 01 सप्ताह के भीतर किसानों के निजी नलकूप के कनेक्शन में आ रही समस्या को शीघ्र दूर करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन किसानों ने निजी नलकूप कनेक्शन के लिए धनराशि जमा कर दी है। प्राथमिकता के आधार पर तत्काल उन्हें कनेक्शन देकर उनके नलकूपों को ऊर्जित किया जाए। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति बाधित न होने तथा किसी भी समस्या पर तत्काल ठीक करने के निर्देश दिए।
ऊर्जा मंत्री ने कहा कि उपभोक्ताओं के बिलों में गड़बड़ी न हो, इसके प्रयास किए जाय। सही बिल बनाया जाए, जिससे बार-बार बिल सुधार की नौबत न आए। उन्होंने डीजी विजिलेंस को बड़ी विद्युत चोरी रोकने के लिए निरन्तर रेड डालने के निर्देश दिए। खासतौर पर बड़ी विद्युत चोरियों व बड़े बकायेदारों पर सख्त कार्रवाई की जाए। लाइन लॉस कम करने के निरन्तर प्रयास किए जाए तथा राजस्व वसूली बढ़ाने पर भी ध्यान दिया जाए। कहा कि राजस्व की कमी से किसी भी व्यवस्था को मजबूत नहीं किया जा सकता।
ऊर्जा मंत्री ने ट्रांसफॉर्मर के जलने की घटनाओं पर चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि इसमें शीघ्र कमी लाई जाए। ट्रांसफॉर्मर का निरन्तर लोड और ऑयल चेक किया जाय। डायरेक्ट तकनीक ने बताया कि प्रदेश भर में प्रतिदिन 1100 से 1200 ट्रांसफॉर्मर जल रहे और इतने ही रिपेयर भी हो रहे है। उन्होंने कहा की सभी अधिकारी/कर्मचारी अपनी कार्यशैली में सुधार लाकर लोगों के प्रति अच्छा व्यवहार करे। विभाग में किसी भी स्तर पर भ्रष्टाचार और बेईमानी बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
पावर कारपोरेशन के चेयरमैन श्री एम0 देवराज ने सभी डिस्कॉम के एमडी को निर्देशित किया है कि किसानों के लिए विद्युत आपूर्ति में किसी भी स्तर पर कमी ना हो किसानों के निजी नलकूप के नए कनेक्शन को भी शीघ्र उर्जित कराएं इसके प्रबंध किए जाएं सामान की आपूर्ति को लेकर भी सभी डिस्कॉम एक दूसरे की मदद करें, जिससे विद्युत व्यवस्था को प्रभावी ढंग से संचालित किया जा सके।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली

सीतापुर में 19 शिक्षक, शिक्षिकायें बर्खास्त