उन्नत तकनीक अपनाकर किसान कर सकते हैं देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत- डी.एम प्रयागराज

वर्तमान परिस्थितियों में भारतवर्ष में कृषि की नई तकनीकों को अपनाकर देश का पेट भरने वाले किसान विकास की नई गाथा लिख सकते हैं। इफको नैनो यूरिया तरल जैव उर्वरक और कृषि विमान ड्रोन के प्रयोग से सस्ती और टिकाऊ खेती को बल मिलेगा और रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। उक्त बातें कारडेट फूलपुर के 45 वें स्थापना दिवस कार्यक्रम के अवसर पर समन्वित ग्रामीण विकास कार्यक्रम के अंतर्गत आयोजित आधुनिक कृषि तकनीकी विचार संगोष्ठी मे कहीं।

विशिष्ट अतिथि श्री संजय कुदेशिया इफको फूलपुर इकाई प्रमुख ने सभा को संबोधित करते हुए फूलपुर नैनो उर्वरक कारखाने के शीघ्र ही प्रारंभ होने की जानकारी दी और किसानों के विकास के लिए इफको के सदा खड़े रहने की बात कही। इफको विपणन लखनऊ से पधारे डॉ आर के नायक ने इफको नैनो यूरिया तरल के तकनीकी पहलुओं और विभिन्न फसलों में उसके प्रयोग की विधियों को विस्तार से बताया तथा इफको के अन्य उर्वरकों के विषय में भी जानकारी दी। इसी क्रम में इफको उत्तर प्रदेश राज्य विपणन प्रबंधक एवं सचिव कारडेट श्री अभिमन्यु राय जी ने कारडेट के द्वारा किए जा रहे कार्यों की चर्चा की और किसानों का मनोबल बढ़ाने के लिए विभिन्न नई जानकारियां भी दी। श्री विनोद कुमार शर्मा डिप्टी डायरेक्टर कृषि प्रयागराज ने कृषि विकास के लिए चलाई जा रही सरकारी योजनाओं को विस्तार से बताया और सभी से निवेदन किया कि वे इन योजनाओं का लाभ उठाने के लिए पंजीकरण जरूर करा लें। श्री गोपाल दास गुप्ता डिप्टी डायरेक्टर प्लांट प्रोटक्शन प्रयागराज मंडल ने उपयोगी जानकारी दी। कार्यक्रम के अध्यक्ष श्री प्रेम कुमार लल्ले सिंह अध्यक्ष  डी सी डी एफ प्रयागराज ने सभा में उपस्थित सभी प्रतिभागियों, सम्मानित अतिथियों एवं पूरी कारडेट टीम को कारडेट के 45 वें स्थापना दिवस की शुभकामनाएं दी। कारडेट फूलपुर के प्रबंध समिति सदस्य श्री आर पी सिंह बघेल जी ने किसानों को आगे बढ़कर नई तकनीक अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया। कोरडेट फूलपुर के पूर्व प्रधानाचार्य डॉक्टर बच्चन सिंह ने अपने अनुभव साझा किए। कार्यक्रम का संचालन कारडेट फूलपुर के प्रधानाचार्य श्री राजेंद्र यादव द्वारा बहुत ही ओजपूर्ण तरीके से किया गया उन्होंने पिछले 45 वर्षों की कारडेट की उपलब्धियों को साझा किया। कार्यक्रम में श्री गुलाब त्रिपाठी ग्राम प्रधान देवनहरी, श्रीमती इंद्र पति ग्राम प्रधान टटीहरा, श्रीमती संगीता यादव ग्राम प्रधान रुदापुर, श्री कमलेश कुमार ग्राम प्रधान भुलईपुरा,  श्री प्रताप बहादुर सिंह ग्राम प्रधान बगई कला सिहत ग्राम रुदापुर, हरभानपुर, परासिनपुर ,टटिहरा, देवनहरी, बगई कला, भुलईपुरा ,रमईपुर , बेलहाबांध ,मिर्जापुर -प्रतापपुर के महिला एवं पुरुष किसान प्रतिभागी भारी संख्या में उपस्थित रहे। संस्थान की तरफ से डॉ हरीश चंद्र ने कृषकों को रबी फसल की तैयारी एवं मृदा परीक्षण के महत्व के विषय में बताया। कार्यक्रम के अंत में सभी प्रतिभागियों को इफको नैनो यूरिया तरल की बोतल निशुल्क वितरित की गई।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ब्राह्मण वंशावली

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सीतापुर में 19 शिक्षक, शिक्षिकायें बर्खास्त