सेहद राज चने का साग

सर्दियाँ का  मौसम आते ही चने के साग की याद आती है। बचपन में जब हम अपने गाँव में रहा करते थे बात नब्बे के दसक की होगी तब प्रायः गाँव में सभी लोग सभी तरह की दलहनी फसलों की खेती किया करते थे। किसान किसी प्रकार का अनाज चाहे वो दलहनी हो या तिलहनी हो अथवा अन्न वाली फसल खरीदकर कर खाना अपनी तौहीन समझते थे। आज की तरह खाने की प्रत्येक जरूरत के लिए लोग बाजार पर निर्भर नही थे। उस दौर में हम भी अपने गाँव के दोस्तों के साथ खेत में चने का साग खाने जाया करते थे और हां माता जी से हरी धनिया, हरा लहसुन, हरी मिर्च और नमक की चटनी पिसवा कर जरूर ले जाता था। हरी धनिया, हरा लहसुन, हरी मिर्च और नमक की चटनी के साथ कच्चा चने का साग खाने का आन्नद ही कुछ और है, हमारी सलाह है कि ये आन्नद सभी को लेना चाहिए, परन्तु आज हम सभी  प्रकार की दलहनी फसलों के लिए बाजार  पर ही निर्भर है।

इन पोषक तत्वों के लिए खाये चने के साग  

चने में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, नमी, चिकनाई, रेशे, कैल्शियम, आयरन एवं विटामिन्स पाए जाते हैं। बालों और त्वचा की सौंदर्य वृद्धि के लिए चने के बेसन का प्रयोग करना लाभदायक होता है। खून की कमी, कब्ज, मधुमेह तथा पीलिया जैसे जटिल रोगों में चना खाना लाभकारी होता है। 

चने में 27 से 30 प्रतिशत आयरन एवं फॉस्फोरस होता है। चना रक्त कोशिकाओं का निर्माण तो करता ही है साथ ही हीमोग्लोबीन मे वृद्धि करके किडनियों मे विद्यमान नमक की अधिकता को संतुलित करता हैं। एक कटोरा चना खाने से 28 ग्राम रेशा मानव शरीर को प्राप्त होता है , जिससे पेट संबन्धी सभी समस्यों दूर हो जाती हैं और साथ ही कब्ज हो अथवा पेट का कैंसर जैसी समस्या दूर हो जाती है।

चने के साग खाने से लाभ : ठण्ड के मौसम में चने के साग खाने से इन समस्याओं से छटकारा पा सकते है :- 

ठण्ड के मौसम में बाजारों में साग की अनको प्रजातियाँ आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं। साग  खाने से कई तरह के शारीरक को लाभ हो सकता हैं। अधिकतर डॉक्टर अथवा डायटीशियन भोजन में हरे पत्तेदार सब्जियां शामिल करने की सलाह देते हैं। हरे पत्तेदार सब्जियों में मेथी, पालक, बथुआ, सरसों के अलावा चने का साग भी शामिल है। चने का साग स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक हैं। मधुमेह से लेकर त्वचा की कई प्रकार की समस्याओं से छुटकारा दिलाने में चने का साग काफी लाभदायक सिद्ध हो सकता है। चने का साग में कई प्रकार के पोषक तत्वों जैसे- प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, आयरन, कैल्शियम और विटामिंस प्रचुर मात्रा में होता है, जो मानव शरीर की परेशानियां जैसे- कब्ज, डायबिटिज से मुक्ति दिला सकता है। इस प्रकार से चने का साग है फायदेमन्द :-

1.  मधुमेह रोगियों के  लिए रामबाण

मधुमेह रोगियों के  लिए चने का साग खान बहुत ही लाभदायक सिद्ध हुआ है। चने का साग प्रोटीन, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट प्रचुर मात्रा में विद्यमान होता है, जो कि मधुमेह नियन्त्रित करता है। यदि आप मधुमेह रोगी हैं, तो अपने भोजन में डायटीशियन की सलाह लेकर चने के साग को शामिल कर सकते है।

2. चने का साग शारीरिक भार कम करता है

चने का साग खाने से मानव शरीर का भार कम करने होता है। चने का साग रेशा पाया जाता है, जो भूख को ज्यादा समय तक नियनित्रत करने में सहायक माना गया है। चने का साग में कैलोरी की मात्रा बहुत ही न्यून होती है। ऐसे में अगर आप नियमित रूप से चने का साग अपने भेजन में शामिल करते हैं, तो आपका शारीरिक भार कम होगा।

3. रोग रोधी क्षमता बढ़ाता है

यदि आपकी शरीर में रोग रोधी क्षमता कम है से ऐसे में आप को चने का जरूर खाना चाहिए। चने का साग खाने से आपकी शरीर की इम्यूनिटी बूस्ट हो सकती है।  जिससे सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार जैसी समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

4. पेट के कब्ज को दूर करता है

चने के साग में भरपूर रेशा होता है, जोकि कब्ज की समस्या को नियन्त्रित करने में सहायक हो सकता है। इसके अतिरिक्त चने का साग प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत माना जाता है। भोजन में चने के साग को शामिल करने से रक्त बहाव बेहतर होता है। 

5. आंखों को रखे स्वस्थ

चने का साग नियमित रूप से भोजन में शामिल करके आंखों की रोशनी को बेहतर कर सकते हैं। चने का साग विद्यमान पोषक तत्व आंखों की मांसपेशियों को बलिष्ट करता है। चने का साग आंखों की रोशनी को बढ़ाने में सहायक माना जा सकता है। 

6. मानसिक संतुलन के बेहतर

चने के साग में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में होने के कारण यह साग आपके मानसिक संतुलन को भी बेहतर करता है। नियमित रूप से चने का साग खाने से स्ट्रेस संतुलित रह सकता है। जिससे आप मानसिक रूप से स्वास्थ्य रहते है। विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में होने के कारण  रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में कारगर साबित हुआ है।

7. त्वचा के लिए लाभदायक

चने का साग खाने से त्वचा की खूबसूरती में चार चाँद लग जाते है। चने का साग में विद्यमानर एंटीऑक्सीडें, विटामिन ई, विटामिन के, बी कॉम्पलेक्स त्वचा की खूबसूरती को बढ़ाने में बहुत कारगर सिद्ध हुई है , इसके अतिरिक्त चने का साग खाने बाल मजबूत और शिल्की होते है। 

चने का साग स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभ दायक है। चने का साग खाने से अनेकों बीमारियों से मुक्ति मिल सकती है। परन्तु ध्यान रहे कि इसे किसी भी बीमारी का पूर्ण रूप से इलाज नहीं कर सकते हैं। यदि आप किसी गंभीर समस्या से ग्रसित हैं, तो अपने चिकित्सक से सलाह लेकर ही  चने का साग खायें।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

ब्रिटिश काल में भारत में किसानों की दशा

ब्राह्मण वंशावली